रक्त रक्त प्रदर के उपाय 

पहला उपाय आम की गुठली का 1 , 2 ग्राम चूर्ण 5 से 10 ग्राम शहद के साथ लेने से रक्त प्रदर में फायदा होता है 
दूसरा उपाय पके केले में आधा तोला लगभग 10 ग्राम घी मिलाकर रोज सुबह-शाम खाने से रक्त प्रदर में लाभ होता है !

तीसरा प्रयोग 10 ग्राम खेर का गोंद रात में पानी में भिगोकर सुबह मिश्री डालकर खाने से रक्त प्रदर में आराम मिलता है !

चौथा उपाय अशोक की एक से 2 तोला chhal अध कुटी करके 100 ग्राम दूध एवं 100 ग्राम पानी में मिलाकर उबाले केवल दूध रहने पर छानकर पीने से रक्त प्रदर में फायदा होता है !

पांचवा उपाय कच्चे केले को dhup में सुखाकर उसका चूर्ण बना लें इसमें 5 ग्राम चूर्ण में 2 ग्राम गुड़ मिलाकर रक्त प्रदर की रोगी महिला को खिलाने से फायदा होता है इस चूर्ण के साथ कच्चे गूलर का चूर्ण समान मात्रा में मिलाकर प्रतिदिन प्रातः श्याम एक एक तोला सेवन करने से ज्यादा लाभ होता है !

छठवां उपाय गोखरू एवं शतावरी के संभाग चूर्ण में से 3 ग्राम चूर्ण को बकरी या गाय के 100 ग्राम दूध में उबालकर पीने से रक्त प्रदर में लाभ होता है !

सातवां प्रयोग जामुन के पेड़ की जड़ों को चावल के मांड में घिसकर एक-एक चम्मच सुबह शाम देने से स्त्रियों का पुराना प्रदर रोग मिटता है 
नया पेज पुराने

,